菜单

社会渠道

搜索存档


附加选项
话题

日期范围

收到的最重要的物品的每日或每周汇总直接到您的收件箱,只需在下面输入你的电子邮件地址:

印度孟买繁忙的市场上设置了路障。来源:Frank Bienewald / Alamy Stock照片
TRANSLATIONS
2020年5月13日16:38

विश्लेषण:कोरोनावायरसकेचलतेभारतमेंCO2उत्सर्जनकीवृद्धिमेंपिछलेचारदशकोंमेंपहलीबारआयीकमी

亚慱官网碳工作人员简要介绍

多个作者

20年5月13日
亚慱官网碳工作人员简要介绍

多个作者

2020年5月13日|下午4:38
翻译 विश्लेषण:कोरोनावायरसकेचलतेभारतमेंCO2उत्सर्जनकीवृद्धिमेंपिछलेचारदशकोंमेंपहलीबारआयीकमी

अर्थव्यवस्थामेंमंदी,नवीकरणीयउर्जामेंबढ़ोत्तरीऔरकोविड-19केप्रभावकेचलतेभारतकेCO2उत्सर्जनकीवृद्धिमेंभारीकमीआयीहै,जोपिछलेचारदशकोंमेंअपनेन्यूनतमस्तरपरपहुंचगयीहै。कोयलेऔरतेलकीखपतमेंभारीकमीकेचलतेमार्चमेंख़त्महुएवित्तीयवर्षमेंदेशकेउत्सर्जनमें1%कीगिरावटदर्जकीगयीहै。

उत्सर्जनमेंयहगिरावट2019केशुरुआतीदौरसेभारतीयअर्थव्यवस्थाकीख़राबहोतीहालतऔरनवीकरणीयउर्जाकेबढ़़तेउत्पादनकासंकेतहै।लेकिनहमेंआधिकारिकरूपसेसंपूर्णभारतसेप्राप्तहुएवित्तीयवर्ष2019 - 2020केडाटाकेविश्लेषणकेमुताबिक,कोरानावायरसजैसीमहामारीसेलड़नेकेलिएउठायेगयेक़दमोंकेचलतेमार्चमहीनेमेंइसमेंभारीगिरावटदर्जकीगयीहै।मार्चकेमहीनेमेंभारतद्वाराकियेजानेवाले二氧化碳उत्सर्जनमेंअनुमानतः15%कीगिरावटदर्जकीगयीहैऔरअप्रैलकेमहीनेमेंइसमें30%कीगिरावटकाअनुमानहै।

वैश्विकस्तरपरफ़ैलीइसमहामारीकेचलतेCO2उत्सर्जनमेंभारीकमीदेखनेकोमिलरहीहै。ऐसेमेंभारतमेंइसकेउत्सर्जनसंबंधीदीर्घकालिकनीतिसंभवतःइसबातपरनिर्भरकरेगीकिभारतकिसतरहसेइसमहामारीसेकितनेकारगरतरीकेसेमुक़ाबलाकरताहै。उल्लेखनीयहैकिइससेसंबंधितप्रतिसादअबसामनेआनेलगाहै,जिसेनीचेबख़ूबीदर्शायागयाहै。भारतकेदीर्घकालिकC02उत्सर्जनऔरवायुकीगुणवत्तापरइसकागहरासकारात्मकप्रभावपड़ेगा。

मांगमेंकमीकेचलतेकोयलेकीखपतकीसमस्या

घटतीमांगऔरनवीकरणीयउर्जासेप्रतिद्वंद्विताकेचलतेपिछले12महीनेमेंथर्मलपावरकेउत्पादनमेंभारीगिरावटदर्जकीगयीहै。महज़मार्चमेंदर्जकीगयीभारीगिरावटकीवजहसेमार्चमेंख़त्महुएवित्तीयवर्षमेंउत्पादनशून्यप्रतिशतसेभीनीचेचलागयाहै。पिछलेतीनदशकमेंदर्जकीगयीयहअबतककीसबसेबड़ीगिरावटहै。

इससेपहलेवालेदशकमेंथर्मलपावरकेउत्पादनमेंप्रतिवर्ष7.5%कीवृद्धिदेखीगयीथी。नीचेदियेगयेआंकड़ोंकेमुताबिक,बिजलीकीकुलमांगमेंनाटकीयगिरावटदर्जकीगयीहै。इसकीमुख्यवजहकोयलाआधारितजेनरेटर्सथे,जिससेउत्सर्जनपरपड़नेवालेइनकेप्रभावकापताचलताहै。मार्चऔरअप्रैलकेपहलेतीनसप्ताहमेंकोयलाआधारितबिजलीउत्पादनमें15%कीगिरावटदर्जकीगयी。यहडाटानैशनलग्रिडकेरोज़ानाकेडाटापरआधारितहै。इसकेउलट,मार्चमहीनेमेंनवीकरणीयऊर्जा(RE)काउत्पादन6.4%तकबढ़ाऔरअप्रैलकेपहलेतीनसप्ताहमेंइसमेंमामूलीगिरावटदर्जकीगयी。

每日发电的来源和今年在印度。资源:POSOCO。使用碳简表亚慱官网Highcharts

उल्लेलखनीयहैकिबिजलीक्षेत्रकीज़रूरतोंसेपरेभीकोयलेकीकुलमांगमेंगिरावटदेखीगयीहै,जोकोयलाआपूर्तिसेजुड़ेडाटासेस्पष्टहोजाताहै。मार्चमेंख़त्महुएवित्तीयवर्षमेंकोयलाकीप्रमुखउत्पादककंपनीकोलइंडियालिमिटेडद्वाराकोयलेकीबिक्रीमें4.3%कीगिरावटदर्जकीगयी,जबकिकोयलेकेआयातमें3.2%कीवृद्धिहुई。इसकामतलबयहहुआकिकोयलेकीकुलखपतमें2%कीगिरावटदेखीगयी。यहगिरावटपिछलेदोदशककेइतिहासमेंकिसीभीसालमेंहुईअबतककीसबसेबड़ीगिरावटकेरूपमेंदर्जकीगयीहै。

यहट्रेंडमार्चमहीनेमेंउसवक्तऔरगहरागया,जबकोयलेकीबिक्रीमें10%कीगिरावटदर्जकीगयी。उधर,मार्चमेंकोयलेकेआयातमें27.5%कीवृद्धिदेखीगयी。इसकाअर्थयहहुआकिबिजलीउत्पादनमेंकमीकेचलतेउपभोक्ताओंतकपहुंचनेवालेकुलकोयलेकीखपतमें15%कीगिरावटदेखीगयी。

बिक्रीमेंअभूतपूर्वकमीकेबावजूदमार्चमेंकोयलाउत्पादनमें6.5%कीबढ़ोत्तरीहुई。इतनाहीनहीं,कोयलेकीबिक्रीसेअधिकइसकेउत्खननमेंवृद्धिदर्जकीगयी。इससेस्पष्टसंकेतमिलताहैकिइसकमीकीमुख्यवजहमांगमेंभारीगिरावटहै。

तेलकीमांग:कमज़ोरसेलेकरनकारात्मकतक

बिजलीकीमांगकीतरहहीतेलकीखपतमें2019कीशुरुआतसेहीकमीदेखीजारहीथी।उल्लेखनीयहैकिकोविड-19सेनिबटनेकेलिएउठायेगयेक़दमोंकेचलतेयातायातकेलिएइस्तेमालहोनेवालेतेलकीखपतमेंऔरभीनाटकीयढंगसेगिरावटदर्जकीगयीहै।राष्ट्रीयस्तरपरलागूलॉकडाउनकेदौरानमार्च,2020मेंखत्महुएवित्तीयवर्षमेंतेलकीखपतमें18%कीगिरावटआयीहै।

कोरानावायरसकेफ़ैलनेसेकमहुईमांगऔरसालकीशुरुआतसेहीछाईमंदीकेचलतेवित्तीयवर्षमेंइसकीखपतमें0.2%कीबढ़तदेखीगयी。इसबढ़ोत्तरीकोपिछलेकमसेकम22सालोंमेंअबतककीसबसेन्यूनतमबढ़ोत्तरीमानाजारहाहै。वित्तीयवर्षकेपहले11महीनेमेंप्राकृतिकगैसकीखपतमें5.4%कीवृद्धिदर्जकीगयीहै。मगरलॉकडाउनकीअवधिकेदौरानइसमें15%से20%तककीकमीआनेकीआशंकाजताईजारहीहै。

पिछलेवित्तीयवर्षकेमुक़ाबलेभारतमेंकच्चेतेलकेउत्पादनमें5.9%कीगिरावटदर्जकीगयी।इसदौरानप्राकृतिकगैसकेउत्पादनमें5.2%कीकमीदेखीगयी।2018 - 2019केमुक़ाबलेपिछलेवित्तीयवर्षमेंकच्चेतेलकेप्रसंस्करणकेसंदर्भमेंरिफ़ाइनरीउत्पादनमेंभी1.1%कीगिरावटदर्जकीगयी।

पिछलेमहीनेकेमुक़ाबलेमार्च,2020मेंकच्चेस्टीलकेउत्पादनमें22.7%मेंकमीआयी。वित्तीयवर्ष2018年至2019年मेंइसकेपहलेवर्षकेमुक़ाबले2.2%कीगिरावटदर्जकीगयी。यहआंकड़ेइस्पातमंत्रालयद्वाराउपलब्धकरायेगयेडाटापरआधारितहैं。

अप्रैलमेंC02उत्सर्जनमें30%कीकमी

कोयला,तेलऔरगैसकेउपभोगकोलेकरऊपरदर्शायेगयेआंकड़ोंकेमुताबिक,हमाराअनुमानहैकिमार्चमेंख़त्महुएवित्तीयवर्षमेंCO2उत्सर्जनमें30मिलियनटन(MICO2,1.4%)कीगिरावटआयीहै。इससेपिछलेचारदशकमेंपहलीबारहुईगिरावटकेतौरपरदेखाजारहाहै。

1965-2020年,印度化石燃料每年排放数百万吨二氧化碳。2009年以后的数据与截至今年3月的财年相符,而2020年的数据则显示了2019-20财年的数据。来源:本文和印度yabo亚博体育app下载政府数据分析BP世界能源统计评论。使用碳简表亚慱官网Highcharts

इसकेअलावा,मार्चसेमार्चकेबीच15%,तोवहींअप्रैलमेंउत्सर्जनमें30%कीगिरावटदर्जकीगयी。अप्रैलमहीनेकाअनुमानऊर्जाक्षेत्रमेंरोज़ानाकेउत्सर्जनडाटापरआधारितहै。इसमेंमार्चकीतरहहीअप्रैलमहीनेमेंभीतेलकीखपतमेंबराबरकीगिरावटकाअनुमानशामिलहै。देशभरमेंमहीनेकेअंततकलॉकडाउनकेजारीरहनेसेइसमेंइसीतरहकीगिरावटदेखीजाएगी。इसकेअलावाएकअनुमानकेमुताबिक,गैसकीखपतमेंभी15-20%कीगिरावटदर्जकीजाएगी。

सरकारकाप्रतिसाद

लघुअवधिकेलिएहीसही,मौजूदासंकटकाभारतकेCO2उत्सर्जनपरगहराप्रभावपड़रहाहै,लेकिनदीर्घकालकेलिएभीभारतकेऊर्जाकेइस्तेमालवउत्सर्जनपरभीइसकाबड़ाअसरहोसकताहै。

हालांकिइसकीशुरुआतअभीहुईहै,मगरइससेसंबंधिततीनतरहकेपरिणामसामनेआनेलगेहैं:

  • इससंकटकेबाददेशकेनवीकरणीयऊर्जाकार्यक्रमकोपुनर्जीवितकरनेकेलिएबड़ेपैमानेपरआर्थिकसहायतामुहैयाकराईजासकतीहै।
  • बिजलीकीघटतीमांगनेऊर्जाउद्योगकेलम्बेसमयसेचलरहेआर्थिकसंकटकोऔरभीगहरा​​करदियाहै。ऐसामेंसंभावितढांचागतबदलावकेलिएराहतपैकेजकादेनाअनिवार्यहोजाएगा。
  • वायुकीबेहतरीनगुणवत्तासेहासिलअनुभवप्रदूषितहवाकेख़िलाफ़मुहिमचलानेमेंकामआसकताहै।नतीजतन,वायुप्रदूषणकेख़िलाफ़बनायेगयेलक्ष्योंऔरमानकोंमेंऔरसुधारलायाजासकताहै।

उल्लेखनीयहैकिऐसेहरमामलेमेंयहसंकट,पहलेसेहीइसकार्यक्षेत्रमेंलिप्तनीतिनिर्धारकोंकेलिएबदलावलानेऔरइसकीगतिकोबढ़नेमेंअहमभूमिकानिभासकताहै。

मिसालकेतौरपरभारतसरकारनेनवीकरणीयऊर्जाकेलिएबातचीतभीशुरूकरदीहै।उनकीयहकोशिशआर्थिकपुनरुत्थानकीकोशिशोंकाएकहिस्साहै।यूरोपीयदेशोंकेनेताभीइसीतरहकीबातचीतऔरप्रयत्नोंमेंसंलग्नहैं।सततमिलरहेइसतरहकेसहयोगकामुख्यकारणयहहैकिसौरऊर्जासेहासिलहोनेवालीबिजलीकोयलेसेप्राप्तहोनेवालीबिजलीसेकाफ़ीसस्तीहोतीहै।

在盐业非暴力抵抗纪念馆,丹迪海滩,印度古吉拉特邦太阳能电池板的树木。2020年2月3日。
在盐业非暴力抵抗纪念馆,丹迪海滩,印度古吉拉特邦太阳能电池板的树木。2月3日2020年靛蓝图片/ Alamy图片社图片

हालहीआयोजितएकनीलामीमें,₹2.55-56प्रतिकिलोवाटघंटे(RS /千瓦时,तकरीबन$ 34प्रतिमेगावाटघंटे)कीऔसतसे2000मेगावाट(MW)कीनयीसौरऊर्जाक्षमताकेनिर्माणकानिर्धारणहुआहै。ग़ौरतलबहैकिलॉकडाउनकेदौरानभविष्यकेबाज़ारऔरआर्थिकअनिश्चितताभरेमाहौलकेबीचहुईइसनीलामीमेंभीइसतरहकेनतीजेसामनेआएंहैं。

इसकेविपरीत,वित्तीयवर्ष2018-19मेंदेशकीसबसेबड़ीकोयलाआधारितबिजलीनिर्माणकंपनीनैशनलथर्मलपावरकंपनी(NTPC)द्वारामुहैयाकराईजानेवालीबिजलीकीप्रतियूनिटदर₹3.38 /千瓦时थीयानिप्रतिमेगावाटइसकीकीमत$ 45 /兆瓦时थी。महंगाई,निर्माणकीलागतमेंबढ़ोत्तरीऔरउत्सर्जनकेकड़ेमानकोंकोलागूकियेजानेकेसाथहीइनआंकड़ोंमेंऔरभीबढ़ोत्तरीकीसंभावनाहै。

भारतसरकारद्वारानवीकरणीयऊर्जाकेलिएमुहैयाकराईजानेवालीसहायताकीअगलीमिसालअप्रैलमहीनेमेंउसवक्तसामनेआयी,जबसरकारनेवायुऔरसौरऊर्जापरियोजनाओंको“मस्टरन”यानिचलतीरहनेवालीज़रूरीसेवाकादर्जादियाथा。इसकेअलावा,सरकारनेवितरणकंपनियोंकोयहहिदायतभीदीहैकिवेबिजलीउत्पादकोंकोसहीसमयपरभुगतानकरें。

नवीनवनवीकरणीयऊर्जामंत्रालयकीओरसेभीनवीकरणीयऊर्जापरियोजनाओंकेपूराकियेकियेजानेकीसमय-सीमाकोबढ़ायागयाहै。इनपरियोजनाओंकोलॉकडाउनकेदौरानऔरलॉकडाउनके30दिनोंकेबादपूराकियाजानाथा。इसछूटकेचलतेपहलेसेहीतयशुदाशेड्यूलकेमुताबिकअपनीपरियोजनाएंपूरीनहींकरपानेवालीऊर्जानिर्माताकंपनियोंपरपेनल्टीनहींलगेगी。

मंत्रालयनेहालहीकेदिनोंमेंविभिन्नराज्यसरकारोंकोलिखकरघरेलूस्तरपरनवीकरणीयऊर्जाकीउत्पादनक्षमतामेंइज़ाफ़ाकरनेकेलिएअपनी-अपनीओरसे“पूराजोर”लगानेकीभीसलाहदीहै。घरेलूस्तरपरआपूर्तिकेबढ़नेसेनवीकरणीयऊर्जाकार्यक्रममेंनयीस्फूर्तिआएगी,जिससेआपूर्तिकर्ताओंकीश्रृंखलाकोऔरमज़बूतीमिलेगीऔरइसउद्योगकाराजनितिकवज़नभीबढ़ेगा。यहउसहदतकठीकहै,जबतककिइससेअत्याधिकसंरक्षणवादकोबढ़ावानहींमिलताहै。

नीलेआसमानसेजुड़ेविचार

पिछलेएकसालमेंCO2उत्सर्जनऔरवायुप्रदूषणमेंभारीकमीदर्जकीगयीहै。देशभरमेंलागूलॉकडाउनकेदौरानआसमानकानीलारंगसभीकोसाफ़तौरपरनज़रआनेलगाहै。ऐसेमेंआमलोगोंकेसाथ-साथनीतिनिर्धारकोंमेंभीइसबातकोलेकरएकउम्मीदकीकिरणजगीहैकिअगरसमयरहतेसहीक़दमउठाएंजाएं,तोभारतमेंभीवायुकोस्वच्छकियाजासकताहै。

यातायात,तमामपावरस्टेशनऔरऊर्जाउद्योगप्रदूषणफ़ैलानेकेप्रमुखस्त्रोतहैंऔरभारतकेCO2उत्सर्जनमेंइनसभीकारणोंकाबहुतबड़ाहाथहै。वायुकीगुणवत्तामेंसुधारअथवाउसेलागूकियेजानेकीकिसीतरहकीअहमकोशिशCO2उत्सर्जनकोगहरेतौरपरप्रभावितकरसकतीहै。

आमलोगोंकीओरसेपड़रहेदबावकेचलतेइससालकीशुरुआतमेंपर्यावरणमंत्रालयनेपहलीबारदेशमें“नैशनलक्लीनएयरप्रोग्राम”यानिराष्ट्रीयस्तरपरवायुकोस्वच्छकरनेसंबंधीकार्यक्रमकाऐलानकियाथा。इसकार्यक्रमकालक्ष्य2024तकदेशभरके102शहरोंमेंप्रदूषणकेस्तरको20-30%तककमकरनाहै。

इसकार्यक्रमकेमाध्यमसेइसबातकीओरभीइंगितकियागयाकि2009मेंनैशनलएम्बियंटएयरक्वालिटीस्टैंडर्ड्स(达标)यानिराष्ट्रीयस्तरपरवायुकीगुणवत्ताकेमानकोंमेंभीबदलावकीआवश्यकताहै।विश्वस्वास्थ्यसंगठन(世卫组织)केदिशा——निर्देशोंकेमुक़ाबलेयेसभीमानकबेहदकमज़ोरहैं।इतनाहीनहीं,कमप्रदूषितइलाकोंमेंभीवायुप्रदूषणकेस्वास्थ्यपरबढ़तेप्रभावोंकेप्रमाणदेखेगयेहैं।अगरफिरसेवायुप्रदूषणऔरस्मॉगकीवापसीहोतीहै,तोऐसेमेंआमलोगोंकीओरसेकड़ीप्रतिक्रियादेखनेकोमिलसकतीहै।

कोरोनावायरसकेचलतेलागूलॉकडाउनकीवजहसेवायुकेस्वच्छहोजानेऔरप्रदूषणकेस्तरमेंनाटकीयपरिवर्तनआनेसेआमलोगों,शोधसंस्थानोंऔरनागरिकअधिकारोंसेसंबंधितसंगठनोंनेNAAQSकोऔरभीमजबूतकियेजानेकीबहसकीशुरुआतकरदीहै。

उर्जाकेक्षेत्रमेंबेलआउट

थर्मलऊर्जाकेउत्पादनमेंगिरावटकेसाथहीभारतीयबिजलीउत्पादकोंकीआयभीबुरीतरहसेप्रभावितहुईहै。इसतरहसेकोरोनावायरससेउपजेसंकटनेएकलम्बेसमयसेआर्थिकसमस्याओंसेजूझरहेदेशकेउर्जाक्षेत्रकोऔरभीबड़ेसंकटमेंडालदियाहै。

ऐसेमेंभारतसरकारऊर्जाक्षेत्रकेलिएराहतकेदौरपरएकआर्थिकपैकेजकोअंतिमस्वरूपदेनेमेंव्यस्तहै。पहलेइसपैकेजकीकुलराशि70000करोड़रुपये($ 9बिलियन)बतायीजारहीथी,जोअबअनुमानिततौरपरकुल90000करोड़रुपये($ 1.2बिलियन)कीराशिमेंतब्दीलहोगयीहै。उल्लेखनीयहैकिऊर्जाक्षेत्रकोरोनावायरससेउपजेहालातकेपहलेसेहीसंकटकेदौरसेगुजररहाथा,जोबुरेक़र्ज़औरआर्थिकमुश्क़िलोंकाएकप्रमुखस्त्रोतबनगयाथा。

ऊर्जाकेक्षेत्रमेंलगातारहोनेवालेघाटेकीवजहोंऔरसरकारीराहतपैकेजपरउसकीनिर्भरताकोआसानीसेसमझाजासकताहै।कृषीऔरघरेलूउपभोक्ताओंकोकमदरोंपरबिजलीउपलब्धकराईजातीहै।इतनाहीनहीं,किसानोंकोमुफ़्तमेंभीबिजलीदीजातीहैऔरइससेहोनेवालेनुकसानकीभरपाईऔद्योगिकवव्यावसायिकउपभोक्ताओंवराजकीयबजटकीमददसेकीजातीहै।इसकेअतिरिक्त,बड़ेपैमानेपरट्रांसमिशनमेंलॉसऔरबिजलीकीचोरीभीहोनेवालेनुकसानकीप्रमुखवजहेंहैं।थर्मलपावरकेउत्पादनमेंवृद्धिकेतहतवितरणकंपनियोंनेअधिकमात्रामेंबिजलीकीख़रीदकोमंज़ूरीदीहुईहै।इसीसेकोयलेसेज़रूरतसेअधिकमात्रामेंबिजलीकेउत्पादनकामुद्दाजुड़ाहुआहै।

अगरसरकारकीओरसेभविष्यमेंप्राप्तहोनेवालेराहतपैकेजकेबावजूदभीइसतरहकीढांचागतसमस्याएंबनींरहतीहैं,तोइसकामतलबयहहोगाकिपुरानेकोयलापावरस्टेशनयूंहीआगेभीकामकरतेरहेंगे,जिससेजैविकईंधनोंसेउत्पन्नहोनेवालीबिजलीपरदेशकीनिर्भरताकायमरहेगी。उल्लेखनीयहैकिबेलआउटसुधारऔरपुनर्गठनकेआधरपरतयकियाजानाचाहिए,जिससेराष्ट्रद्वारातयकियेगयेस्वच्छऊर्जाकेलक्ष्योंकोहासिलकरनेमेंमददहासिलहो。

उल्लेखनीयहैकिभारतमेंपहलेसेही“ग्रीनरिकवरी”पैकेजकीमांगकीजारहीहै。इससेहासिलहोनेवालेनतीजोंमें - नवीकरणीयऊर्जाकार्यक्रमकोमज़बूतीप्रदानकरना,वायुप्रदूषणकोफ़ैलनेमेंरोकथामऔरथर्मलऊर्जाक्षेत्रकीढांचागतसमस्याओंकोसुलझानेसेजुड़ेसवालकाफ़ीअहमसाबितहोंगे。

从这个故事中Sharelines
  • विश्लेषण:कोरोनावायरसकेचलतेभारतमेंCO2उत्सर्जनमेंपिछलेचारदशकोंमेंपहलीबारआयीकमी

简要

专家分析直接到yabo亚博体育app下载你的收件箱。

获取每天或每周往返的所有电子邮件通过碳简介选择的重要文章和论文。亚慱官网

简要

专家分析直接到yabo亚博体育app下载你的收件箱。

获取每天或每周往返的所有电子邮件通过碳简介选择的重要文章和论文。亚慱官网